Cancer होने के क्या कारण है| how to save from cancer in hindi

कैंसर की बीमारी होने के बहुत कारण है मगर उनमे से एक कारण ये भी है जानिए 

यदि आप ज्यादा चाय पीते है तो आप सावधान हो जाओ जी हाँ दोस्तो अगर आप ज्यादा गर्म चाय को पीने के आदी हैं तो आप भी सावधान हो जाएं। क्योकि अनजाने में आप गले के कैंसर को दावत दे रहे हैं। ये गर्म चाय की चुस्कियां क्यों हानिकारक हैं, आप भी जानिए

गर्म चाय के दुष्परिणाम | Side Effects of Hot Tea


चाय तो गर्म ही पी जाती है और इसमें कोई दो राय नहीं है क‍ि गर्मागर्म चाय पीने का अपना ही मजा होता है। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो जायके तक तो बात ठीक है लेकिन आपकी सेहत के लिहाज से ये बहुत हानिकारक है। चाय के कप को कम से कम पांच मिनट बाद इसे पीना सेहत के लि‍ए सही माना जाता है। ब्रिटिश मेडिकल एजेंसी में भी ये बात सामने आ चुकी है कि ज्यादा गर्म चाय पीने से खाने की नली का या गले का कैंसर होने का खतरा सात गुना तक बढ़ जाता है। जिसके कारण आपको जान गवानी पड़ सकती है



जबकि इस बात की पहचान इससे भी की जा सकती है कि ईरान देश में चाय बहुत अधिक पी जाती है, और जबकि वहां के लोग सिगरेट और तंबाकू का और अन्य किसी नशीली दवाई का सेवन भी नहीं करते थे, लेकिन उनमें इसोफेगल कैंसर की शिकायत अक्सर बहुत पाई गई।
इसके पीछे के कारण का पता चला तो तेज गर्म चाय थी जो गले के टिशूज को नुकसान पहुंचाती है। चाय को गैस स्टोव या आंच से उतारने के दो मिनट के भीतर पीने वालों को कैंसर का खतरा उन लोगों से चार गुना बढ़ जाता है, जो चार या पांच मिनट के बाद पीते हैं जिसके कारण गम्भीर समस्या हो जाती है
गर्म चाय पीने से कैंसर इस बात की रिसर्च के लिए करीब 45 हजार लोगों को चुना गया था और उन पर हुए अध्ययन के बाद ये बात सामने आई। विशेषज्ञों के अनुसार चाय पीने और कप में डालने के बीच कम से कम पांच मिनट का अंतर होना चाहिए।

ये जरूर याद रखिए गर्म चाय पीने से एसिडीटी, खट्टी डकारे अल्सर, और पेट से जुड़ी तमाम छोटी बड़ी बीमारियां हो सकती हैं।
जिसके कारण आपको आगे चलकर बहुत परेशानी हो सकती है केवल गर्म चाय ही नहीं, कोई भी चीज हो इतनी गर्म हो जो पेट की शेल्षा झिल्ली को प्रभावित करती है और उससे पेट से जुड़ी तमाम बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए जरूर याद रखें क‍ि चीजें इतनी ही गर्म खानी चाहिए जिससे मुंह और गला ही नहीं, पेट भी न जले।
आपको हमारी पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी
अगर इस चीज़ से रिलेटेड आपको और भी जानकारी चाहिए तो आप हमे नीचे comment कर सकते है ।
धन्यवाद

0 Response to "Cancer होने के क्या कारण है| how to save from cancer in hindi "

Post a Comment